दुनिया

भ्रष्टाचार में सलाखों के पीछे पहुंचा बदनाम मुल्क पाकिस्तान का पुराना बादशाह

  • [By: FPIndia || Published: Jul 14, 2018 12:47 PM IST
भ्रष्टाचार में सलाखों के पीछे पहुंचा बदनाम मुल्क पाकिस्तान का पुराना बादशाह
-बम धमाके, लाठीचार्ज, पथराव से बना अराजगता का माहौल
New Delhi: आतंकवाद, झूठ और वादाखिलाफी को लेकर पूरी दुनिया में बदनाम मुल्क पाकिस्तान के हालात बिगड़े हुए हैं। बर्खास्त प्रधानमंत्री नवाज शरीफ व उनकी बेटी मरियम नवाज को को गिरफ्तार करके सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया। दोनों की गिरफ्तारी लंदन से लौटने के बाद नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) की टीम ने शुक्रवार को लाहौर एयरपोर्ट से की। गिरफ्तारी से पहले और बाद में उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के हजारों समर्थक सड़कों पर आ गए। जमकर लाठीचार्ज, पथराव और गिरफ्तारियां हुईं। इसके अलावा अलग-अलग जगहों पर हुए बम धमाकों में 133 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई जबकि 125 से ज्यादा घायल हो गए। चुनावी सरगर्मियों के बीच अराजगता के माहौल से निपटने के लिए अलर्ट जारी हुआ और लाहौर को छावनी में तब्दील कर दिया गया।
     बता दें कि नवाज शरीफ और उनकी बेटी पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं। अदालत ने बीते 6 जुलाई को नवाज को 10 साल जबकि उनकी बेटी को 7 साल की सजा सुनाई थी। इससे पहले शरीफ को प्रधानमंत्री पद से आयोग्य ठहराकर बर्खास्त कर दिया गया था। नवाज शरीफ लंदन गए थे जहां उनकी पत्नी का इलाज चल रहा था। उनके वतन लौटने की तारीख 13 जुलाई थी। अबूधाबी एयरपोर्ट से वह चले। बेटी मरियम ने अबूधाबी एयरपोर्ट से पिता के साथ कुछ तस्वीरें भी ट्वीटर पर पोस्ट की। जिनमें नवाज चिंतित नजर आ रहे थे। खबरों के मुताबिक इस बीच उनके समर्थक सड़कों पर जुट गए और एयरपोर्ट पर भीड़ जुट गई। यह तय था कि दोनों की एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तारी होनी है। भीड़ अराजक हुई और उसने पुलिस पर पथराव किया जिसके बाद पुलिस ने जमकर लाठीचार्ज किया और गिरफ्तारियां कीं। एयरपोर्ट पहुंचते ही दोनों को कस्टडी में ले लिया गया। एकांउटिबलिटी कोर्ट उनके जेल ले जाने का वॉरंट जारी कर चुकी थी। दोनों को जेट ये इस्लामाबाद ले जाया गया और वहां से रावलपिंडी स्थित अदिआला सेंट्रल जेल भेज दिया गया। हालांकि नवाज शरीफ ने इसे राजनीतिक साजिश बताते हुए सेना पर फंसाने का आरोप लगाया। 
चुनाव से पहले बम धमाके और मौतें 
पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं। इनमें नवाज शरीफ की पार्टी समेत प्रमुख दल जोर लगा रहे हैं। प्रमुख बात यह है कि मोस्ट वांटेड आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के मुखिया हाफिज सईद की पार्टी भी चुनाव लड़ रही है। हाफिज रैलिया कर रहा है और भारत के खिलाफ आग उगल रहा है। चुनावी रैलियों में बम धमाके भी हो रहे हैं। नवाज की गिरफ्तारी के ठीक पहले भी 2 बम धमाके हुए। जिसमें 133 लोगों की मौत हो गई जबकि 125 से ज्यादा घायल हुए। इससे पहले पेशावर की एक चुनावी रैली में हुए आत्मघाती हमले में 40 लोगों की मौत हो गई थी तथा दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री नसीरूल मुल्क ने हमलों की निंदा की।
वीडियो से नवाज का कौम के नाम पैगाम
नवाज शरीफ की बेटी ने अबूधाबी से विमान में सवार होकर ट्वीटर पर पिता का एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें उन्होंने कौम के नाम पैगाम में कहा कि यहां से जाने के बाद मुझे सीधे जेलखाने में ले जाया जाएगा, लेकिन पाकिस्तानी कौम को मैं बताना चाहता हूं कि यह मैं आपके लिए कर रहा हूं। यह कुर्बानी मैं आपकी नस्लों के लिए दे रहा हूं लिहाजा मेरे कदमों से कदम मिलाकर चलें। मेरे हाथों में हाथ डालें और मुल्क की तकदीर बदलें यह मौके बार-बार नहीं आएंगे। इससे पहले उन्होंने मीडिया से बातचीत में भी कहा कि अपनी बीमार बेगम को छोड़कर पाकिस्तान जा रहे हैं। वह जानते हैं कि सीधे उन्हें जेल जाना है, लेकिन अपनी कौम के लिए जा रहे हैं। मेरा मुल्क बर्बादी की तरफ जा रहा है। मैं अपने मुल्क को बर्बाद नहीं होने दूंगा। यह मेरी कौमी ड्यूटी है। मैं वह कर्ज चुका रहा हूं जो कर्ज मेरे ऊपर वाजिब है। पाकिस्तानी कौम हमारा साथ देगी। उन्होंने मीडिया से भी एकजुट होने की अपील की।

रिलेटेड टॉपिक्स