राजनीति

5 राज्यों में चुनाव का बिगुल, 11 दिसंबर के नतीजे बदलेंगे किस्मत

  • [By: FPIndia || Published: Oct 06, 2018 17:04 PM IST
5 राज्यों में चुनाव का बिगुल, 11 दिसंबर के नतीजे बदलेंगे किस्मत
-यह चुनौतीपूर्ण चुनाव होंगे 2019 का सेमीफाइनल
New Delhi: चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों को एलान कर दिया है। यह चुनाव मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, मिजोरम व तेलंगाना में होने हैं। चुनाव आयुक्त ओपी रावत की घोषणा के साथ ही राज्यों में चुनाव आचांर संहिता लागू हो गई। 15 दिसंबर से पहले ही चुनाव की प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी। चुनाव अलग-अलग चरणों में होगा और 11 दिसंबर को संपूर्ण नतीजे आ जाएंगे। खास बात यह है कि सवालों से बचने के लिए चुनाव में आधुनिक व नई वीवीपैट-इवीएम मशीनों को इस्तेमाल होगा। चुनाव में उतरने वाले उम्मीदवारों को 28 लाख रूपये खर्च करने की सीमा होगी। पारदर्शी चुनावों के लिए चुनाव आयोग सभी तैयारियां कर चुका है। प्रत्येक बूथ पर सुरक्षाबलों की तैनाती की जाएगी। भाजपा और कांग्रेस जैसे दल पहले से ही मतदान वाले राज्यों में सभाएं करके चुनावी महौल बनाते रहे हैं। साफ तौर पर माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव के नतीजों का असर 2019 के लोकसभा चुनाव पर भी पड़ेगा। एक तरह से यह 2019 का सेमीफाइनल होगा। नतीजे प्रमुख दलों के नेताओं की किस्मत बदलने वाले होंगे जो उनके भविष्य की दिशा-दशा निर्धारित करेंगे। 
राजस्थान
राजस्थान में दो चरणों का चुनाव होगा। जिनमें पहले चरण 7 दिसंबर को मतदान सम्पन्न होगा। राजस्थान की 200 विधानसभा सीटों के लिए वोट पड़ने हैं। मौजूदा समय में इस राज्य में बीजेपी की सरकार है। राजस्थान में 33 जिले हैं। 2013 के चुनाव में यहां भाजपा को 163 जबकि कांग्रेस को 21, बसपा को 3, एनपीपी को 4, एनयूजेडपी को 2 व 7 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की थी।
छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ में दो चरणों का चुनाव होगा। जिनमें पहले चरण 12 नवंबर व दूसरा चरण 20 नवंबर को सम्पन्न होगा। छत्तीसगढ़ की 91 विधानसभा सीटों के लिए वोट पड़ने हैं। मौजूदा समय में इस राज्य में बीजेपी की सरकार है। 2013 के चुनाव में यहां भाजपा को 49 जबकि कांग्रेस को 39, बसपा को 1 व 1 सीट अन्य के खाते में गई थी। उल्लेखनीय पहलू यह है कि 27 जिलों वाले राज्य में 51 सीटें सामान्य, 10 एससी व 29 एसटी के लिए आरक्षित हैं। 15 सालों से यहां बीजेपी की ही सरकार है।
मध्य प्रदेश
मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को मतदान सम्पन्न होगा। यह मतदान प्रक्रिया 231 विधानसभा सीटों के लिए होगी। मौजूदा समय में इस राज्य में बीजेपी की सरकार है। यहां  51 जिले हैं। 2013 के चुनाव में यहां भाजपा को 166 जबकि कांग्रेस को 57, बसपा को 4 व अन्य को 3 सीटें मिली थीं।
मिजोरम
मिजोरम में 28 नवंबर को ही मतदान सम्पन्न होगा। यह मतदान प्रक्रिया 40 विधानसभा सीटों के लिए होगी। यहां  8 जिले हैं। मौजूदा समय में इस राज्य में बीजेपी की सरकार है। मौजूदा समय में इस राज्य में कांग्रेस की सरकार है। बीते विधानसभा चुनाव में यहां कांग्रेस को 34, एफएनएफ को 5 व एमपीसी को 1 सीट ही मिली थी।
तेलंगाना
तेलंगाना में भी चुनाव होंगे। यहां 7 दिसंबर को मतदान सम्पन्न होगा। यहां  31 जिले हैं। यह मतदान प्रक्रिया 119 विधानसभा सीटों के लिए होगी। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चन्द्रशेखर राव ने समय से पहले ही विधानसभा को भंग कर दिया था इसके बाद सरकार का कार्यकाल पूरा होने से पहले से चुनाव का रास्ता खुला। 2014 के रोचक मुकाबले में यहां चुनाव में यहां कांग्रेस को 13, ओवैसी की एआईएमआईएम को 7, भाजपा को 5, टीडीपी को 3 तथा सीपीआईएम को 1 सीट ही मिली थी।
5 राज्यों में यह है लोकसभा सीटों की स्थिति
राजस्थान में कुल 25 लोकसभा सीटें हैं। जिनमें से भाजपा के पास 23 तथा कांग्रेस के पास 2 सीटें हैं।
मध्यप्रदेश में कुल 29 लोकसभा सीटें हैं। जिनमें से भाजपा के पास 26 तथा कांग्रेस के पास 3 सीटें हैं।
छत्तीसगढ़ में कुल 11 लोकसभा सीटें हैं। जिनमें से भाजपा के पास 10 तथा कांग्रेस के पास 1 सीट है।
तेलंगाना में कुल 17 लोकसभा सीटें हैं। जिनमें में टीआरएस के पास 11, भाजपा के पास 1, कांग्रेस के पास 2, तेदेपा के पास 1 तथा 2 सीटें अन्य के पास हैं।
मिजोरम की एक लोकसभा सीट है। इस सीट पर कांग्रेस काबिज है।

रिलेटेड टॉपिक्स