देश-प्रदेश

भारत ने किया पाकिस्तान में बमों से हमला, आतंकी ठिकाने ध्वस्त

  • [By: FPIndia || Published: Feb 26, 2019 10:13 AM IST
 भारत ने किया पाकिस्तान में बमों से हमला, आतंकी ठिकाने ध्वस्त
-वायुसेना ने की भीषण बमबारी, पाकिस्तान में फैली दहशत
-पाकिस्तान ने खुद ही दिया दुनिया को बमबारी का सबूत
New Delhi: जम्मू-कश्मीर में बीते 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के बाद गुस्से में आए भारत ने पाकिस्तानी को मुंहतोड़ जवाब दिया। भारतीय वायुसेना ने एक ऑपरेशन के तहत बड़ी कार्रवाई करते हुए बॉर्डर पार जाकर लड़ाकू विमानों के जरिए आतंकी ठिकानों पर हमला कर दिया। जमकर बमबारी की गई। इस हमले में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कई ठिकानों को सैंकड़ों किलों बमों से नेस्ताबून कर दिया गया। भारत की यह दूसरी बड़ी सर्जिकल स्ट्राइक रही। बालाकोट में जैश का सबसे बड़ा कैंप भी निशाना बना। इस हमले में बड़ी संख्या में आतंकवादी, उनके ट्रेनर व कमांडर मारे गए। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने सबूत के तौर पर इसकी वीडियो व तस्वीरे भी जारी कीं और कहा कि भारतीय वायु सेना ने बम गिराए और घुसपैठ की कोशिश की। उल्लेखनीय है कि हमले के बाद भारत ने अपना रूख साफ कर दिया था। पूरे देश में गम और गुस्से की लहर के चलते प्रधानमंत्री ने भी सुरक्षाबलों को खुली छूट दे रखी है। जिसके बाद सेना ने भी साफ कर दिया था कि जो भी सेना के खिलाफ बंदूक उठाएगा वह मारा जाएगा।  
     रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने बेहद गोपनीय ऑपरेशन के जरिए तड़के 3 बजे के बाद मिराज-2000 विमानों के जरिए पाकिस्तान में आतंकी ठिकाने वाले चकोठी, बालाकोट जैसे इलाकों में बम बरसाने शुरू किये। भीषण बमबारी में आतंकी संगठन जैश व अन्य के कई ठिकाने ध्वस्त हो गए। आतंकी कैंपों पर एक हजार किलों बम गिराए गए। इसमें 12 मिराज विमानों को इस्तेमाल किया गया। पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया कि 'भारत-पाक नियंत्रण रेखा (एलओसी) का उल्लंघन करके मुजफ्फराबाद सेक्टर से भारतीय विमानों ने घुसपैठ की कोशिश की।' उन्होंने बालाकोट सेक्टर में बम गिराए जाने की तस्वीरें भी जारी कीं। भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने मीडिया को बताया कि जैश-ए-मोहम्मद भारत में फिर फिदायीन आतंकवादी हमलों की साजिश रच रहा है, इसलिए उसे रोकने के लिए हमला करना जरूरी हो गया था। बालाकोट का कैम्प जैश-ए-मोहम्मद का सबसे बड़ा कैम्प था। इसे जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर का बहनोई यूसुफ अजहर संचालित कर रहा था, जो मारा गया है। ऑपरेशन का निशाना खासतौर से आतंकी अड्डे को बनाया गया था, ताकि नागरिकों को नुकसान न हो।
     बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत के बदला लेने की चेतावनी के कड़े रूख से पाकिस्तान में लगातार डर का माहौल बना है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी साफ कर दिया था कि भारत बड़ी कार्रवाई की तैयारी में है। आतंक के मुद्दे पर भारत के साथ दुनिया के कई देश खड़े हो गए। दहशत में आए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भारत के गुस्से को देखते हुए कहना पड़ा कि भारत को उन्हें शांति के लिए एक मौका जरूर देना चाहिए। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक पाकिस्तान में डर का ऐसा माहौल बना है कि लोग अपने घरों में खाने-पीने का जरूरी सामान एकत्र कर रहे हैं। सीमा से लगे इलाकों में लोगों ने पलायन कर दिया है। सेना की उच्च स्तरीय बैठकें चल रही हैं और विदेश मंत्री ने अपना जर्मनी दौरा भी रद्द कर दिया। दोनों देशों की तरफ से 730 किलोमीटर लंबी नियंत्रण रेखा पर बेहद सतर्कता बरती जा रही है। जम्मू-कश्मीर में अफवाहों के मद्देनजर सतर्कता बढ़ी है। 
इस खबर पर अपडेट्स जारी हैं-
वायुसेनाध्यक्ष बीएस धनोवा ने की ऑपरेशन की निगरानी।
दिल्ली में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मैं भारतीय वायुसेना के पायलटों को सलाम करता हूं।
बदले के बाद पूरे देश में जश्न का माहौल। वायुसेना की तारीफ।
एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान में हड़कंप के हालात, पाकिस्तानी संसद में लगे इमरान मुर्दाबाद के नारे। 

रिलेटेड टॉपिक्स