देश-प्रदेश

NIA ने ध्वस्त किया आतंकी नेटवर्क, एक मौलवी निकला मास्टरमाइंड

  • [By: FPIndia || Published: Dec 26, 2018 23:25 PM IST
NIA ने ध्वस्त किया आतंकी नेटवर्क, एक मौलवी निकला मास्टरमाइंड
-देश था निशाने पर, दिल्ली व उत्तर प्रदेश से हुईं गिरफ्तारियां
New Delhi: नेशनल इनवेस्टिगेटिव एजेंसी (एनआईए) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एक बड़े देशी आतंकी नेटवर्क का भंडाफोड़ किया। एनआईए ने दिल्ली व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 17 स्थानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी करते हुए 16 से भी ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया जिनमें से फिलहाल 10 को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के एक बड़े मॉड्यूल ‘हरकत उल हर्ब ए इस्लाम’ से जुड़े थे और उनके मंसूबे बेहद खतरनाक थे। पकड़े गए आरोपी देश में बहुत जल्द रिमोट कंट्रोल के जरिए ब्लास्ट करने वाले थे। इसकी उन्होंने मजबूत तैयारियां भी कर ली थीं। उनके निशाने पर प्रमुख लोगों के अलावा दिल्ली पुलिस मुख्यालय व आरएसएस का ऑफिस भी था। पूरे नेटवर्क का मास्टरमाइंड एक मदरसे का मौलवी था। उनके कब्जे से भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री, देसी लॉन्चर, पिस्टल, तमंचे, अलार्म घड़ियां, 100 मोबाइल फोन, 135 सिम कार्ड व 7.5 लाख रुपये नकदी भी बरामद की गई।
     एनआईए ने दिल्ली के जाफराबाद के करीब आधा दर्जन स्थानों के अलावा यूपी में एटीएस व पुलिस की मदद से टीमों ने कई स्थानों पर छापेमारी शुरू की तो हड़कंप मच गया। इन टीमों में 150 से भी ज्यादा सुरक्षाकर्मी शामिल थे। एनआईए ने दिल्ली के अलावा, मेरठ, हापुड़ व अमरोहा से कई लोगों को हिरासत में लिया। घंटों कार्रवाई के बाद राजधानी दिल्ली में एनआईए के आईजी, आलोक मित्तल ने ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कुल 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनमें 5 की गिरफ्तारी उत्तर प्रदेश से की गई। यह लोग हमलों की साजिश रचकर तैयारी कर रहे थे। वह जल्द ही बड़े हमले करने वाले थे। ब्लास्ट रिमोट कंट्रोल के जरिए किए जाने वाले थे। फिदायीन हमले के लिए जैकेट भी तैयार की जा रही थीं। इनके कब्जे से एक देसी लॉन्चर, 25 मिलो केमिकल, पिस्टल, तमंचे, 150 कारतूस, 120 अलार्म घड़ियां, 51 पाइप, 3 लैपटॉप 100 मोबाइल फोन व 135 सिम कार्ड, तलवारें व चाकू आदि सामान बरामद किया गया। इसके अलावा 7.5 लाख रुपये नगद भी बरामद किये गए।
     एनआईए के मुताबिक सभी गिरफ्तार आरोपी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के नए मॉड्यूल हरकत उल हर्ब ए इस्लाम से जुड़े थे। मॉड्यूल का मास्टरमाइंड मोहम्मद सोहैल मुफ्ती है वह जाफराबाद का ही रहने वाला है, लेकिन अमरोहा के एक मदरसे में मौलवी का काम कर रहा था। वह विदेश में बैठे आईएस के एक हैंडलर के संपर्क में था। 26 जनवरी को यह हमला करना चाहते थे। कई प्रमुख लोगों के अलावा, दिल्ली पुलिस मुख्यालय, आरएसएस का ऑफिस व भीड़भाड़ वाले इलाके इनके निशाने पर थे। यह लोग टेलीग्राम और वॉट्सऐप के जरिए एक-दूसरे के संपर्क में रहते थे। गिरफ्तार आरोपियों में मोहम्मद सोहैल मुफ्ती के अलावा अनस यूनुस, राशिद जफर, सईद, रईस अहदम, जुबेर मलिक, जैद मलिक, इफ्तिखार, आजम व जाहिद शामिल हैं। इनमें अनस एमिटी यूनिवर्सिटी में इंजीनियरिंग का छात्र, जुबेर दिल्ली यूनिवर्सिटी का छात्र, इफ्तिखार मस्जिद का इमाम व राशिद कारोबारी है।

रिलेटेड टॉपिक्स