देश-प्रदेश

दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन है ‘कुंभ मेला'

  • [By: FPIndia || Published: Jan 15, 2019 22:16 PM IST
दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन है ‘कुंभ मेला
Prayagraj, (UP): उत्तर प्रदेश की धर्मनगरी प्रयागराज में विश्व के विशालतम सांस्कृतिक-आध्यात्मिक कुंभ का आगाज 15 जनवरी की शाही स्नान के साथ ही हो गया। पवित्र संगम में देशभर से आए साधु-संतों, धर्माचार्यों व श्रद्धालुओं ने गंगा में डुबकी लगाई। मानवता के इस महासंगम पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी लोगों को बधाई दी। कुंभ देशी-विदेशी करोड़ों लोगों के आगमन का साक्षी होगा। खास बात यह है कि 4 मार्च तक चलने वाले इस आयोजन में दुनिया के 122 देशों के प्रतिनिधि भी 22 फरवरी को कुंभ में भागीदार बनेंगे।
     कुंभ दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक और सांस्कृतिक आयोजन है। कुंभ में करीब 12 से 14 करोड़ लोगों के पहुंचने का अनुमान है। मेला 45 किलोमीटर के दायरे में फैला है। गंगा, यमुना और सरस्वती के संगम पर कुंभ को ऐतिहासिक बनाने की लंबे समय से तैयारियां की गईं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तैयारियों का जायजा भी लिया। देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए हवाई, रेल व सड़क यातायात को सुलभ बनाया गया। 800 विशेष ट्रेनें संचालित की गईं। गंगा, यमुना व सरस्वती पर 22 पुल बनाए गए। कुंभ में यात्रियों के ठहरने से लेकर खाने-पीने तक का इंतजाम किया गया। बजट के अनुसार डीलक्स, सुपर डीलक्स या सुइट तक की 
खास व्यवस्था है। 20 हजार लोगों के लिए रैन बसेरे का भी प्रबंध किया गया। अस्पतालों का नवीनीकरण किया गया और आधुनिक चिकित्सा उपकरणों की व्यवस्था की गई। गंगा, प्रवचन व सांस्कृति पंडाल ऐसा कि दस हजार लोग भी एकजुट हो जाएं। 
     पौराणिक महत्व वाला कुंभ दुनिया का इकलौता ऐसा आयोजन है जहां एक ही समय पर सर्वाधित आबादी एक दायरे में सीमित होती है। कुंभ को लेकर लोगों में कितनी आस्था है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मकर संक्रांति पर डेढ़ करोड़ से ज्यादा श्रद्धालुओं ने कड़ाके की ठंड के बावजूद गंगा में डुबकी लगाई। यह आयोजन 15 अरब की लागत वाला है। श्रद्धालुओं की सुरक्षा व भीड़ नियंत्रण के लिए पुलिस के भी खास इंतजाम हैं। किसी भी खतरे के मद्देनजर सुरक्षा और भी कड़ी है। पुलिसकर्मियों को आधुनिक हथियारों व जांच उपकरणों के साथ तैनात किया गया है। पूरा आयोजन तीसरी आंख के दायरे में होगा। इसके लिए एक हजार सीसीटीवी कैमरे लगाए गए। 

रिलेटेड टॉपिक्स