देश-प्रदेश

41 जवान शहीद, देश में गम और गुस्सा, कब देंगे मुंहतोड़ जवाब?

  • [By: FPIndia || Published: Feb 14, 2019 23:49 PM IST
41 जवान शहीद, देश में गम और गुस्सा, कब देंगे मुंहतोड़ जवाब?
-पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले को बनाया गया निशाना
-हमले के बाद अलर्ट, पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग
New Delhi: आतंकवाद के लिए पूरी दुनिया में बदनाम दोगले पाकिस्तान की गोद में पल रहे कायर आतंकियों ने देश को इतना बड़ा दर्द दिया जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। पुलवामा में आतंकियों ने 
कायरतापूर्ण घटना को अंजाम देते हुए सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाया। आतंकियों ने करीब 300 किलो विस्फोटक से भरी कार को बस से टकराकर उड़ा दिया। तेज धमाके के साथ बस के परखच्चे उड़ गए। इस बड़े हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए जबकि कई जवान घायल हो गए। घटनास्थल के नजारे ने सभी दहलाकर रख दिया। हर तरफ मौत का मंजर था और लाशों के चिथड़े पड़े थे। कई शव पहचानने की स्थिति में भी नहीं थे। आतंकियों को यह हमला सुनियोजित था। आतंकी हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने लेकर अपने एक आतंकी आदिल अहमद की तस्वीर भी जारी की। पूरे देश में हमले को लेकर शोक और गुस्से की लहर दौड़ गई। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित तमाम नेताओं ने हमले की भर्त्सना की। खुफिया विभाग ने पहले ही हमले की आशंका जाहिर करते हुए अलर्ट जारी किया था। हमले के बाद पूरे देश में पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग उठ गई। सुरक्षा सलाहकार भी मानते हैं कि अब बड़ी-बड़ी बातें नहीं बल्कि पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने की जरूरत है। देशहित में बड़े फैसले लेने की जरूरत है।
     रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलवाना के अवंतिपुरा में यह हमला उस वक्त हुआ जब सीआरपीएफ अलग-अलग बटालियन के ढाई हजार से ज्यादा जवान करीब 78 बसों में सवार होकर जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर जा रहे थे। फिदायीन हमलावरों ने विस्फोट से भरी आपनी कार को काफिले की बस से टकरा दिया। तेज धमाके के साथ बस के परखच्चे उड़ गए। हर तरफ बस के टुकड़े और शव फैल गए। इस भयानक हमले में 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए जबकि कई घायल हो गए। आनन-फानन में घायलों को सेना के श्रीनगर के बादामीबाग स्थित अस्पताल सहित अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया। घाटी में अलर्ट जारी कर दिया और हाईवे पर वाहन रोककर संवेदनशील स्थानों पर सतर्कता बढ़ा दी गई। पंजाब में भी अलर्ट जारी कर दिया गया। फोरेंसिक एक्सपर्ट व बम निरोधक दस्ते की टीमें भी मौके पर पहुंच गई। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली और आत्मघाती मानव बम आतंकी आदिल अहमद का फोटो जारी किया। यह आतंकी पुलवामा का ही रहने वाला था और बीते साल आतंकी संगठन में शामिल हुआ था। 
     हमले की खबर से पूरा देश गम और गुस्से में आ गया। गृह मंत्रालय में हलचल मच गई। हमले की जांच के लिए आईजी रैंक के अधिकारी के नेतृत्व में एनआईए की 12 सदस्यीय टीम गठित कर दी गई। हमले पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया कि आतंकवादी हमले की मैं भर्त्सना करता हूँ। शहीदों के शोक-संतप्त परिवारों के प्रति मेरी शोक-संवेदनाएं। मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूँ। पूरा देश आतंक और क्रूरतापूर्ण शक्तियों के खिलाफ एकजुट होकर खड़ा है। हमले पर पीएम मोदी ने भी दुख जताया और ट्वीट करके लिखा कि वीर जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमले को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पाकिस्तान समर्थित जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले को अंजाम दिया। मैं इस देश के लोगों को आश्वस्त करता हूं कि इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। देश शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करता है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने सीआरपीएफ के अधिकारियों से स्थिति की जानकारी ली। 
इस खबर पर अपडेट्स-
आतंकी हमले की संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने निंदा की और कहा कि दोषियों को सजा मिले।
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने पुलवामा आतंकी हमले पर कहा, दुख की इस घड़ी में हम भारत के लोगों और सरकार के साथ खड़े हैं।
विदेश मंत्रालय ने कहा कि वैश्विक आतंकवादी मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद को संचालित करता है, जिसे आतंकी गतिविधियां चलाने और आतंकी ढांचे को बढ़ाने की पाकिस्तान ने खुली छूट दे रखी है। हम पाकिस्तान से मांग करते हैं कि वह आतंकवादियों और उसके क्षेत्र में सक्रिय आतंकवादी संगठनों को सहयोग देना बंद करे साथ ही आतंकवादी ढांचों को नेस्तनाबूद करे।
रूसी दूतावास ने कहा कि हम हर तरह के आतंकवाद की निंदा करते हैं और ऐसे अमानवीय कृत्यों का मुकाबला करने के लिए सामूहिक और निर्णायक प्रतिक्रिया की आवश्यकता को दोहराते हैं। हम मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं और घायलों के शीघ्र ठीक होने की कामना करते हैं।

रिलेटेड टॉपिक्स