दिल्ली-एनसीआर

17 लोगों की मौत बन गया दिल्ली का यह होटल

  • [By: FPIndia || Published: Feb 12, 2019 15:09 PM IST
17 लोगों की मौत बन गया दिल्ली का यह होटल
New Delhi: दिल्ली एक बड़े हादसे से रू-ब-रू हुई। राजधानी का करोलबाग स्थित होटल अर्पित पैलेस भीषण आग की चपेट में आ गया। इस हादसे में 17 लोगों की मौत हो गई जबकि कई घायल हो गए। दमकल की दो दर्जन से ज्यादा गाड़ियों ने आग पर बामुश्किल काबू पाया और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। हादसे में होटल की लापरवाही की सामने आ रही है। होटल की सीढ़ियां संकरी थी। धुएं के गुबार में वहां से कई लोगों को भागने का मौका भी नहीं मिला। कुछ लोग अपनी जान बचाने के लिए और चौथी मंजिल से तकियों के सहारे कूद गए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी हादसास्थल का दौरा किया। उन्होंने सभी मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रूपये मुआवजा घोषित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जाहिर किया और मृतकों के प्रति अंपनी संवेदनाएं प्रकट कीं। दिल्ली सरकार ने हादसे की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि जो लोग लापरवाही के दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
     पांच मंजिला होटल में आग मंगलवार की सुबह करीब साढ़े चार बजे लगी। आग लगने के वक्त ज्यादातर लोग नींद में थे। कुछ ही देर में होटल धुएं के गुबार में बदल गया और आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। कुछ लोग तकियों के सहारे ऊपर से कूद पड़े जबकि कई को जान बचाने का मौका ही नहीं मिला। हादसे की खबर पाकर दमकल विभाग के 26 गाड़ियां मौके पर पहुंची। दमकलकर्मियों ने किसी तरह आग पर काबू पाते हुए बचाव अभियान चलाया। अंदर से शवों के निकलने का सिलसिला हुआ, तो हर कोई दहल गया। आनन-फानन में घायल लोगों को राम मनोहर लोहिया, लेडी हॉर्डिंग व गंगाराम अस्पताल पहुंचाया गया। कई लोग गंभीर रूप से आग में झुलस गए। होटल में केरल से आए लोग व कुछ विदेशी ठहरे थे। शुरूआती जांच में आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट माना गया। 
     मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी होटल पहुंचे। मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रूपये मुआवजा घोषित किया। हादसे की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने मजिस्ट्रट जांच के आदेश कर दिए। शुरूआती जांच में होटल की लापरवाही सामने आ रही है। माना जा रहा है कि यदि लापरवाही न बरती गई होती, तो इतने लोगों की मौत नहीं होती। ज्यादातर लोगों की मौत दम घुटने से हुई। होटल में ज्यादातर काम लकड़ी का हुआ था इससे आग और भी फैल गई। पुलिस ने हादसे में गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया जिसके बाद होटल के जीएम व मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि होटल एसोसिएशन के प्रेसिडेंट बालान मणि ने मीडिया से कहा कि होटल में सभी नियमों का पालन किया जा रहा था। अग्निकांड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख जताया। 

रिलेटेड टॉपिक्स