बिज़नेस

बजट 2019ः 5 लाख तक की आय पर टैक्स नहीं

  • [By: FPIndia || Published: Feb 01, 2019 23:15 PM IST
बजट 2019ः 5 लाख तक की आय पर टैक्स नहीं
-बजट में हर तबके पर मेहरबान रही मोदी सरकार
New Delhi: मोदी सरकार ने ‘सबका साथ सबका विकास’ पर आधारित लोक लुभावन अंतरिम बजट पेश किया। सरकार के कार्यकाल का यह आखिरी बजट था। वित्त मंत्री पियूष गोयल ने संसद में यह बजट पेश किया। सरकार ने कई बड़ी घोषणाएं कीं। सरकार ने हर वर्ग को राहत देने की कोशिश की। सबसे बड़ी घोषणा मिडिल क्लास के लिए की गई। आयकर में छूट की सीमा को बढ़ाकर 5 लाख रूपये किया गया। इससे करोड़ों लोगों को फायदा होगा। वहीं किसानों को सालाना 6000 रूपये दिए जाएंगे। रक्षा बजट भी बढ़ाया गया और काला धन वापस लाने की प्रतिबद्धता भी दोहराई गई। विपक्ष ने बजट पर भले ही अपनी भूमिका निभाते हुए सवाल उठाए हों, लेकिन बजट में सरकार हर तबके पर मेहरबान रही। 
     लोकसभा में अपने करीब दो घंटे के भाषण में वित्त मंत्री पियूष गोयल ने न केवल सरकार की उपलब्धियों को गिनाया, बल्कि भविष्य के भी सुनहरे सपने दिखाए। मिडिल क्लास की आयकर सीमा को दोगुना करते हुए 5 लाख कर दिया गया। अब 5 लाख तक की आय पर कोई टैक्स नहीं देना होगा। दो हेक्टेयर की भूमि रखने वाले किसानों को सरकार हर साल 6000 रूपये देगी। इसके अलावा पेंशन योजना की घोषणा भी हुई। वेतनभोगियों को राहत देते हुए ग्रेच्युटी की सीमा 20 लाख हो गई। इसके तहत असंगठित क्षेत्रों के कर्मचारियों को प्रतिमाह 3000 रूपये सरकार की तरफ से दिए जाएंगे। रक्षा बजट पर खासा ध्यान सरकार ने दिया। पहली बार रक्षा बजट को बढ़ाकर 3 लाख करोड़ रूपये किया गया। वहीं रेलवे के लिए 64,587 करोड़ रूपये आवंटित किए गए। सरकार ने मुद्रा योजना के तहत 7.23 लाख करोड़ रुपए के 15.56 लाख कर्ज मंजूर किए। इनका लाभ पाने वालों में बड़ा हिस्सा महिलाओं का है।   
     वित्त मंत्री ने बताया कि 12 लाख करोड़ रूपये का टैक्स जमा हुआ। 8 साल में 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य है। सरकार ने काले धन की बुराइयों को दूर करने के लिए प्रतिबद्धता दोहराई। वित्त मंत्री ने कहा कि इस दिशा में नोटबंदी सहित किए गए सरकार के प्रयासों से 1.30 लाख करोड़ रुपए की अघोषित आय का पता चला। 50,000 करोड़ रुपए की बरामदगी भी हुई। नोटबंदी के बाद वर्ष 2017-18 में 1.06 करोड़ से अधिक लोगों ने पहली बार आयकर रिटर्न भरा।
प्रधानमंत्री ने बजट को बताया सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट को सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी और सर्व-समावेशी बताया। उन्होंने कहा कि बजट न्यू इंडिया के लक्ष्यों की प्राप्ति में देश के 130 करोड़ लोगों को नई ऊर्जा देगा। इस बजट में किसान उन्नति से लेकर कारोबारियों की प्रगति तक इनकम टैक्स से लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर तक हाउसिंग से लेकर हेल्थ केयर तक तथा इकोनॉमी को नई गति से लेकर न्यू इंडिया के निर्णाण तक सभी का ध्यान रखा गया है। हमारी सरकार की योजनाओं ने देश के हर व्यक्ति के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है। हमारा पूरा प्रयास है कि किसानों को सशक्त करके उन्हें वे संसाधन दें, जिनसे वे अपनी आय दोगुनी कर सकें। देश का एक बहुत बड़ा वर्ग आज अपने सपनें साकार करने में और देश के विकास को गति देने में लगा हुआ है. उनके लिए सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है।

रिलेटेड टॉपिक्स